Plastic money kya hai

Plastic money kya hai।आपने Plastic money का नाम तो सुना ही होगा। साधारण तौर पर प्लास्टिक मनी हार्ड प्लास्टिक कार्ड है जिसे बैंक नोट के स्थान पर इस्तेमाल किया जाता है। आज के डिजिटल वर्ल्ड में प्लास्टिक मनी लोगों के बीच बहुत प्रचलित है। इसका कारण है कि इसके इस्तेमाल करने से हमें हार्ड कैश साथ लेकर चलने की जरूरत नहीं पड़ती है। जहाँ भी जरूरत हो हम एटीएम से कैश निकाल सकते हैं। POS मशीन में स्वाइप करके भी खरीददारी कर सकते हैं। Plastic money ने लोगों के जीवन को आसान बना दिया है।Plastic money kya hai के बारे में और विस्तार से जानते हैं।

Plastic money के इस्तेमाल करने से यात्रा करते समय पॉकेटमारी का डर नहीं है और ना ही घर से पैसे चोरी होने का डर रहता है। लेकिन इसका इस्तेमाल सावधानीपूर्वक किया जाना चाहिए। क्योंकि फ्रॉड की घटनाएं भी बहुत हो रही है। धोखे से कार्ड नंबर तथा पिन जानकार कोई आपके बैंक अकाउंट को खाली भी कर सकता है। हालाँकि सावधानी से उपयोग करने पर यह बहुत ही सुविधाजनक है। आज के जमाने में यह ध्यान देने योग्य बात है कि Plastic money ने कैश ट्रांसक्शन को बहुत कम कर दिया। आइए अब Plastic money kya hai के बारे में विस्तार से पढ़ते हैं ।

इन्हें भी पढ़ें:-

Plastic money का इतिहास

अगर इतिहास की बात करें Plastic money की नींव सन् 1900 के शुरुआत में ही पड़ चुकी थी। हालाँकि ये बात और है कि उस समय इस्तेमाल किये जा रहे चार्ज कार्ड का उपयोग मूलतः ग्राहकों को वफ़ादार बनाये रखने के लिए किया जाता था। इसके अलावा इसका इस्तेमाल भी बहुत सीमित था। वास्तविक रूप से सन् 1946 में “Charge-it” पहला बैंक कार्ड था।

Plastic money
सन् 1900 के दिनों की खरीददारी की एक तस्वीर
डिनर क्लब कार्ड

उस ज़माने में फ्रैंक मकनमरा एक व्यापारी हुआ करते थे। कई बार अपने व्यापारी साथियों के साथ डिनर करने बाद उनके पास पैसे कम पड़ जाते थे। इस तरह की घटना ने उन्हें चार्ज कार्ड के बारे में सोचने के लिए मजबूर किया। आगे चलकर चार्ज कार्ड डिनर क्लब कार्ड के रूप में प्रचलित हुआ।

Diners club credit card
डिनर क्लब कार्ड
अमेरिकन एक्सप्रेस कार्ड

सन 1958 में अमेरिकन एक्सप्रेस अपना पहला क्रेडिट कार्ड जारी किया । अंतरराष्ट्रीय उपस्थिति के कारण यह कार्ड विश्व भर में अपनाया जाने लगा । विश्व में अपनाया जाने वाला यह पहला क्रेडिट कार्ड है । अमेरिकन एक्सप्रेस कार्ड की फोटो

इसके बाद सन् 1958 में बैंक ऑफ अमेरिका ने एक कार्ड की शुरुआत की जिससे की खरीदारी भी की जा सकती थी । कैलिफोर्निया में इसकी शुरुआत हुई बाद में यह विश्व भर में प्रचलित हो गया । इस कार्ड का नाम बैंक अमेरिकार्ड रखा गया । इस कार्ड को लुभावने ऑफर के साथ ग्राहकों को दिया जाने लगा फलस्वरूप यह कार्ड लोगों के बीच में बहुत प्रचलित हो गया । विशेष रूप से यह कार्ड अमेरिका में बहुत ही ज्यादा प्रचलित था ।

चुंबकीय पट्टी वाले कार्ड

चुंबकीय पट्टी वाले कार्ड की शुरुआत 1960 के बाद हो चुकी थी । ये कार्ड सुरक्षा की दृष्टि से बहुत ही अच्छे थे । कार्ड में लगाए जाने वाले चुंबकीय पट्टी में ग्राहकों के बैंक खाते से संबंधित जानकारी कोडिंग करके दी जाती थी । ठीक उसके बाद एटीएम कार्ड की शुरुआत हुई । एटीएम कार्ड में चुंबकीय पट्टी का इस्तेमाल किया जाता था जिसमें ग्राहक के खाते की जानकारी होती थी । इस कार्ड का इस्तेमाल एटीएम मशीन में किया जाने लगा । एटीएम कार्ड को सुरक्षित बनाने के लिए कार्ड के साथ 4 अंकों के पिन की भी आवश्यकता होती है ।

Plastic money क्या है?
ATM Card

VISA कार्ड

विजा कार्ड की यात्रा सन 1958 मैं शुरू हुई । जब बैंक ऑफ अमेरिका ने अपने ग्राहकों तथा छोटे उद्यमियों के लिए क्रेडिट कार्ड प्रोग्राम की शुरुआत की थी । सन 1974 तक वीजा कार्ड ने अपने अंतर्राष्ट्रीय पहचान बना ली थी । सन 1975 में वीजा कार्ड ने अपना पहला टेस्ट कार्ड जारी किया । अभी वीजा कार्ड ने विश्व के लगभग सभी देशों में अपनी पहचान बना ली है । विजा डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड तथा अन्य कई तरह के कार्ड विश्व भर में जारी करता है । वर्तमान समय में वीजा कार्ड का उपयोग बहुत सारे प्लेटफार्म से किया जाता है ।

VISA Card
VISA Card

मास्टरकार्ड

मास्टरकार्ड शुरुआत सन 1966 में हुई। 1969 में मास्टर कार्ड का नाम मास्टर चार्ज था । मास्टर कार्ड का लोगो भी 1969 में ही अपनाया गया । सन 1979 में मास्टरचार्ज का नाम बदलकर मास्टरकार्ड कर दिया गया । आज मास्टर कार्ड ने भारत सहित विश्व के लगभग सभी देशों में अपनी पहचान बना ली है । मास्टर कार्ड द्वारा डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड तथा अन्य कई तरह के कार्ड ऑफर किए जाते हैं ।

MasterCard
MasterCard

डिस्कवर कार्ड

डिस्कवर कार्ड की शुरुआत 1980 के बाद हुई थी । इस कार्ड ने बहुत ही जल्दी अपनी पहचान बना ली क्योंकि इस कार्ड में वार्षिक चार्ज नहीं लिए जाते थे। इस कार्ड द्वारा ज्यादा क्रेडिट लिमिट ऑफर किया जाता था। इसमें कैशबैक का भी ऑफर दिया जाता था । वर्ष 1990 के बाद डिस्कवर कार्ड ने काफी सफलता पाई । अब डिस्कवर कार्ड, विजा कार्ड तथा मास्टरकार्ड के प्रतिद्वंदी बन गए ।

Discover Card
Discover Card

RuPay कार्ड

इस कार्ड भारतीय मूल का कार्ड है जिसे NPCI ने बनाया है । भारतीय बैंकों को इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट में आत्मनिर्भर बनाने के लिए इसे लाया गया था । RuPay कार्ड के आने से पहले इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट के लिए भारतीय बैंकों को विदेशी पेमेंट चैनल जैसे वीजा, मास्टरकार्ड आदि पर निर्भर रहना होता था । RuPay कार्ड पेमेंट चैनल के प्रतिद्वंदी के रूप में उभर कर आया है । हमारे देश में इसका व्यापक उपयोग हो रहा है । फलस्वरूप विदेशी पेमेंट चैनल को जाने वाला कमीशन अब हमारे देश में ही रह रहा है ।

RuPay कार्ड
RuPay कार्ड

Plastic money इस्तेमाल करने के फायदे

कैश ले जाने के झंझट से मुक्ति :- प्लास्टिक मनी के इस्तेमाल करने से हार्ड कैश लेजाने की जरूरत नहीं पड़ती । फर्ज कीजिए आप कहीं यात्रा कर रहे हैं तो आपको कैश ले जाने की जरूरत नहीं है । इस तरह यात्रा सुखद तथा सुरक्षित होता है । जहां जरूरत पड़ी वहां एटीएम के माध्यम से कैश निकाला जा सकता है । इसके अलावे मोबाइल के माध्यम से भी पैसे को ट्रांसफर किया जा सकता है ।

अपराध में कमी :- इसके इस्तेमाल करने से घर में ज्यादा कैश रखने की जरूरत नहीं पड़ती । ठीक उसी तरह यात्रा के वक्त भी नाम मात्र का ही कैश रखना होता है । इस तरह चोरी तथा पॉकेटमारी जैसी घटनाओं में कमी आई है । सावधानी से इस्तेमाल करने पर प्लास्टिक कार्ड को हैक करना बहुत ही कठिन है । यह पैसे रखने का एक सुरक्षित माध्यम है । प्लास्टिक कार्ड के चोरी होने की स्थिति में बैंक द्वारा तुरंत ब्लॉक किया जा सकता है इस तरह यह पूर्ण रूप से सुरक्षित है ।

आसान भुगतान

बिल भुगतान में आसानी :- चाहे बिजली का बिल हो चाहे गैस का बिल या आपको मोबाइल रिचार्ज करना हो आप क्रेडिट या डेबिट कार्ड से आसानी से कर सकते हैं । ठीक उसी प्रकार आप का डेबिट या क्रेडिट कार्ड के माध्यम से ऑनलाइन शॉपिंग भी कर सकते हैं । प्लास्टिक मनी ने आम जनजीवन को बहुत ही आसान बना दिया है । अब पुराने जमाने की तरह पैसे निकालने या किसी को भेजने के लिए बैंकों में लंबी कतार लगने की कोई जरूरत नहीं है ।

विदेश यात्रा करने में आसानी :- प्लास्टिक मनी को विश्व के सभी देशों में अपनाया जाता है । इस कारण विदेशों की यात्रा करने वालों को वहां पर भुगतान करने में बहुत आसानी हो जाती है ।

खर्च अभी भुगतान बाद में :- क्रेडिट कार्ड द्वारा यह सहूलियत दी जाती है कि कोई व्यक्ति पहले खर्च करके बाद में उसका भुगतान कर सकता है । यह सुविधा प्लास्टिक मनी के आने से पहले नहीं थी । पुराने जमाने में ऐसी स्थिति में लोन लेने के अलावा और कोई दूसरा विकल्प नहीं था । लोन लेना एक लंबी प्रक्रिया है जबकि क्रेडिट कार्ड द्वारा तुरंत ही पैसे मिल जाते हैं ।

Plastic money के अवगुण

भुगतान में परेशानी :- प्लास्टिक मनी को हर जगह नहीं किया जा सकता । छोटे दुकानों सब्जी मंडी जैसे जगहों में प्लास्टिक मनी का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है । इस कारण से ऐसी जगहों में हार्ड कैश ले जाना मजबूरी होती है । धार्मिक स्थलों में भी प्लास्टिक मनी का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता । ऐसी जगहों पर हार्ड कैश ही देना होता है ।

पूर्ण रूप से सुरक्षित नहीं :- प्लास्टिक मनी पूर्ण रूप से सुरक्षित नहीं होती है । ऐसी घटनाएं देखने सुनने को मिलती है जिसमें डेबिट या क्रेडिट कार्ड से फ्रॉड कर लिया जाता है । सावधानीपूर्वक डेबिट तथा क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल नहीं करने पर आर्थिक हानि उठानी पड़ सकती है।

खर्च ज्यादा होना :- बुद्धिमता पूर्वक क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल न करने पर बजट से ज्यादा खर्च हो सकता है क्योंकि यह क्रेडिट फैसिलिटी प्रदान करता है ।

क्रेडिट कार्ड के प्रकार

मुख्यतः क्रेडिट कार्ड तीन प्रकार के होते हैं:-

ट्रैवल कार्ड :- कार्ड में खर्च करने की कोई मासिक सीमा नहीं होती है । परंतु माह के अंत में पूरे बिल का भुगतान करना होता है । अमेरिकन एक्सप्रेस कार्ड डिस्कवर कार्ड इस तरह की सेवा करते हैं ।

इंटरटेनमेंट कार्ड:- ट्रैवल कार्ड इसी तरह इस कार्ड में भी कोई मासिक सीमा नहीं होती है और माह के अंत में भुगतान करना पड़ता है । डिस्कवर कार्ड के द्वारा इंटरटेनमेंट कार्ड दिया जाता है ।

बैंक कार्ड:- बैंकों द्वारा यह कार्ड जारी किया जाता है । इस तरह के कार्ड में खर्च करने की सीमा निर्धारित होती है । इस तरह के कार्ड में प्रत्येक महीना बिल जनरेट होता है । बिल जनरेट डेट से 20 दिनों के भीतर पूर्ण या निर्धारित न्यूनतम राशि का भुगतान करना होता है । इस तरह का कार्ड विजा कार्ड मास्टर कार्ड रुपे कार्ड द्वारा जारी किया जाता है।

सारांश

Plastic money kya hai पोस्ट के माध्यम से मैंने प्लास्टिक मनी के बारे में सब कुछ बताने की कोशिश की है । मुझे आशा है आप लोगों को यह पोस्ट पसंद आया होगा । अपने प्रिय जनों के बीच यह पोस्ट जरूर शेयर करें । ताकि उन्हें भी इसकी जानकारी हो सके । आपके द्वारा दिए गए सलाह हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है । नीचे कमेंट करके आप हमें अपने बहुमूल्य सलाह दे सकते हैं । यह हमें और भी बेहतरीन लेख लिखने के लिए प्रोत्साहित करेगा ।

2 thoughts on “Plastic money kya hai

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: