What is Motherboard in hindi? मदरबोर्ड क्या है?

What is Motherboard in hindi? मदरबोर्ड क्या है? अगर आपको कभी खुले हुए लैपटॉप या सीपीयू को देखने का मौका मिला हो तो आपने उसके अन्दर मौजूद मदरबोर्ड को अवश्य देखा होगा। What is Motherboard in hindi? मदरबोर्ड क्या है? पोस्ट में हम आपको मदरबोर्ड के विषय में विस्तार से जानकारी देंगे। मदरबोर्ड अधिकतर इलेक्ट्रॉनिक संयंत्रों जैसे लैपटॉप, कंप्यूटर आदि में लगा प्रिंटेड परिपथ बोर्ड है।आमतौर पर इसे सिस्टम बोर्ड भी कहते हैं।

कंप्यूटर के अलावा मदरबोर्ड का प्रयोग बहुत से इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में किया जाता है। इसके साथ ही उसमें स्टोरेज, वीडियो डिस्प्ले और ध्वनि को नियंत्रित करने के लिए कंट्रोलर्स और कुछ और उपकरण कनेक्टर द्वारा मदरबोर्ड से जुड़ी होती है। तो आइये विस्तार से देखते है What is Motherboard in hindi? मदरबोर्ड क्या है?

माउस क्या है?

कीबोर्ड क्या है?

मदर बोर्ड की संरचना

मदर बोर्ड
मदर बोर्ड

मदरबोर्ड के विभिन्न हिस्से एवं उनके कार्य

पॉवर सप्लाई (SMPS)

 किसी भी कंप्यूटर को चलाने के लिए सबसे आवश्यक चीज पॉवर (बिजली) होती है क्योंकि इसके बिना कुछ भी नहीं हो सकता है। मदरबोर्ड के दाहिनी ओर 20-24 PIN के साथ पॉवर कनेक्टर दिया होता है। यहीं से पूरे कंप्यूटर में जरुरत के मुताबिक पॉवर सप्लाई की जाती है।

सुपर I/O चिप

सुपर I/O चिप एक सिंगल चिप है जो I/O (input /output) डिवाइसों को नियंत्रित करता है। यह फ्लॉपी ड्राइव, सीरियल पोर्ट, पीएस/2 माउस, कुछ कीबोर्ड फंक्शंस को नियंत्रित करते हैं। गौरतलब है की अब सभी नवीनतम मदरबोर्ड सुपर I/O नियंत्रक चिप के साथ आते हैं।

BIOS Chip & CMOS Battery

BIOS Chip के द्वारा ही ऑपरेटिंग सिस्टम का बूट प्रोसेस (Boot Process) स्टार्ट होता है। प्रोसेस को स्टार्ट करने के लिए इसे एक्स्ट्रा और निरंतर पॉवर की आवश्यकता होती है इसलिए इसके साथ एक बैटरी भी लगी होती है जिसे CMOS & BIOS Battery कहा जाता है। यह बैटरी सिस्टम टाइम एंड डेट (Time & Date) को हमेशा अपडेट रखता है और बूट मास्टर पासवर्ड को रिसेट करता है।

यह चिप कंप्यूटर के बूट प्रोसेस से आधारिक कोड को लेती हेयर और उसे कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम तक ले जाती है इसे कम करने के लिए निरंतर पॉवर की आवश्यकता होती है इसलिए इसे पॉवर देने के लिए एक बैटरी से जोड़ा जाता है और यह कंप्यूटर के अनप्लग होने पर भी काम करती है।

प्रोसेसर सॉकेट

प्रोसेसर सॉकेट
प्रोसेसर सॉकेट

 सीपीयू सॉकेट कंप्यूटर के भीतर मदरबोर्ड में लगा हुआ वह हिस्सा होता है जिस पर प्रोसेसर लगाया जाता है। प्रत्येक कंप्यूटर में प्रोसेसर को कंप्यूटर की क्षमता के अनुसार लगाया जाता है जैसे आपने नाम सुना होगा P1, P2, ड्यूल कोर, क्वैड कोर, ओक्टा कोर, कोर i5, कोर i7 आदि।

RAM स्लॉट

 RAM स्लॉट में कंप्यूटर की RAM लगी होती है यह कंप्यूटर का एक छोटा-सा हिस्सा है लेकिन बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा होता है जब भी हम कंप्यूटर को खरीदने जाते हैं तो अच्छे रैम वाला कंप्यूटर खरीदते हैं ताकि वह सही स्पीड से काम कर सके।जितनी ज्यादा रैम वाला कंप्यूटर होगा वह उतना ही स्मूथ और बिना हैंग हुए चलेगा क्योंकि अधिक रैम वाला कंप्यूटर एक साथ बहुत सारी एप्लीकेशन को रन कर सकता है।

पॉवर कनेक्टर

कोई भी कंप्यूटर या कंप्यूटर का हिस्सा बिना पॉवर के नहीं चल सकता इसलिए कंप्यूटर में पॉवर कनेक्टर का होना बहुत आवश्यक होता है। पॉवर कनेक्टर कुछ पिनों का बना होता है इसमें 20 से 24 पिन होती हैं और यह कंप्यूटर मदरबोर्ड में दाईं ओर होता है। यहीं से यह पॉवर लेता है और कंप्यूटर के दूसरे हिस्सों को पॉवर देता है।

मेमोरी स्लॉट

 मेमोरी स्लॉट बोर्ड पर रैम लगाने के लिए एक इंटरफेस प्रदान किया जाता है। यह कंप्यूटर की हर मेमोरी के मोड्यूल को संभालता है। प्रत्येक कंप्यूटर में भिन्न-भिन्न मेमोरी स्लॉट होता है पहले पुराने कंप्यूटर में DDR Slot आते थे लेकिन अब DDR3 Slot और DDR4 आते हैं जो मदरबोर्ड के राईट साइड में 2 लगे होते हैं।जब आप कोई नया मदरबोर्ड लेने जाते हैं तो यह जरुर चेक करें कि कौन सा मेमोरी स्लॉट लगा है।

हमें आज भी वह कंप्यूटर मिल जाते हैं जो DDR1 और DDR2 के मेमोरी स्लॉट पर काम करते हैं। स्लॉट की अधितम संख्या मदरबोर्ड पर निर्भर करती है।RAM स्लॉट में कंप्यूटर की RAM लगी होती है यह कंप्यूटर का एक छोटा-सा हिस्सा है लेकिन बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा होता है जब भी हम कंप्यूटर को खरीदने जाते हैं तो अच्छे रैम वाला कंप्यूटर खरीदते हैं ताकि वह सही स्पीड से काम कर सके। जितना ज्यादा रैम वाला कंप्यूटर होगा वह उतना ही स्मूथ और बिना हैंग हुए चलेगा क्योंकि अधिक रैम वाला कंप्यूटर एक साथ बहुत सारी एप्लीकेशन को रन कर सकता है।

नार्थब्रिज और साउथब्रिज

 मदरबोर्ड को दो हिस्सों में बांटा गया है नोर्थब्रिज और साउथब्रिज। नोर्थब्रिज मदरबोर्ड का एक अहम हिस्सा होता है यह मेमोरी, वीडियो कार्ड और प्रोसेसर के मध्य के डाटा के बहाव के लिए जिम्मेदार होता है।

साउथब्रिज का काम छोटा होता है यह प्रोसेसर और साउंड कार्ड या नेटवर्क के मध्य के डाटा के बहाव के लिए जिम्मेदार होता है परन्तु यह उतना ही महत्वपूर्ण है जितना की नार्थब्रिज।

ध्यान देने की बात यह है की ये दोनों आपको मदरबोर्ड के नीचे दाई तरफ ही मिलता है एवं इनके साथ एक और डिवाइस भी जुड़ा होता है जिसे हम हीटसिंक कहते हैं। हीटसिंक मेटल का बना होता है और इसका काम होता है कि यह नोर्थब्रिज और साउथब्रिज को थर्मल बचाव प्रदान करता है । वास्तव में नोर्थब्रिज मेमोरी, PCI Slot को मैनेज करता है और साउथब्रिज प्रोसेसर, नेटवर्क कार्ड को मैनेज करता है।

वीडियो कार्ड स्लॉट

जैसा इसके नाम से ही हमें पता चल रहा है कि वीडियो कार्ड स्लॉट हमारे कंप्यूटर में वीडियो को चलाने में सहायता करता है। यह मदरबोर्ड में नीचे दाईं ओर मिलता है। अगर आपके मदरबोर्ड पर वीडियो कार्ड स्लॉट नहीं है तो आप अपने कंप्यूटर पर वीडियो का आनन्द नहीं ले पाएंगे। आजकल कई मदरबोर्ड में एक से अधिक वीडियो कार्ड स्लॉट भी मिलते हैं ताकि उन कंप्यूटर में हाई क्वालिटी के गेम चल सकें।

एक्सपेंशन स्लॉट

इस स्लॉट की मदद से हम अपने द्वारा बाहर से डाला गया कोई भी सॉफ्टवेयर इनस्टॉल कर सकते हैं जैसे – अगर आप अपने कंप्यूटर में टीवी टूनर या वीडियो कैप्चर कार्ड आदि सॉफ्टवेयर डाले तो वे इसी स्लॉट की सहायता से आपके कंप्यूटर में इनस्टॉल हो पाते हैं। यह आपको आपके मदरबोर्ड में आपके वीडियो कार्ड स्लॉट में ठीक नीचे मिलता है।

IDE और SATA पोर्ट

ये दोनों पोर्ट्स आपके कंप्यूटर में स्टोरेज डिवाइस को और ऑप्टिकल ड्राइव्स को कनेक्टिविटी प्रदान करते हैं इनमें से IDE पोर्ट अब बहुत कम देखने को मिलता है तो अगर आपके कंप्यूटर का मदरबोर्ड बिना IDE पोर्ट के आपको मिलता है तो आप चौकेंगे नहीं। असल में IDE की जगह अब SATA ने ले ली है।

SATA पोर्ट IDE पोर्ट से छोटा और उससे काफी तेज गति से काम करता है।

SATA पोर्ट के भी कुछ नए रूप बाजार में आ गए है जैसे – SATA1, SATA2, SATA3 आदि। इन सब में से एक ही मदरबोर्ड में लगता है और उसका चयन कंप्यूटर मदरबोर्ड के बाकी हिस्सों को देखकर किया जाता है।

फ्रंट पनल कनेक्टर, USB हैडर और ऑडियो हैडर

 फ्रंट पनल कनेक्टर आपके CPU के बॉक्स के बाहर दिए गए कनेक्शन के हिस्सों को कहा जाता है जिसमें पॉवर बटन, रिसेट बटन, पॉवर लेड, ऑडियो कनेक्टर और USB कनेक्टर दिए जाते हैं।

रियर कनेक्टर

Ports
Ports

 यह कनेक्टर कंप्यूटर के भीतर के हिस्सों और बाहर के हिस्सों को जोड़ने का अहम काम करता है। यह कनेक्टर मदरबोर्ड के बाईं तरफ बिलकुल किनारों पर दिए जाते है जहाँ आप अपने कंप्यूटर के बाकी हिस्से जैसे – माउस, कीबोर्ड, मॉनिटर, स्पीकर आदि को जोड़ते हैं।

एक्सपेंशन स्लॉट्स  

एक मदरबोर्ड पर एक्सपेंशन स्लॉट्स आपको मदरबोर्ड पर एक्सपेंशन कार्ड्स कनेक्ट करने में सक्षम बनाता है। मदरबोर्ड में तीन पीसीआई स्लॉट होते हैं जहाँ आप एक्सपेंशन/पीसीआई कार्ड जोड़ सकते हैं। अलग पीसीआई कार्ड में LAN कार्ड, ग्राफिक कार्ड, SCSI कार्ड शामिल हैं पीसीआई कार्ड्स मौजूदा मदरबोर्ड की क्षमता का विस्तार करते हैं।

सीपीयू वोल्टेज रेगुलेटर

यह एक इलेक्ट्रॉनिक इंटीग्रेटेड सर्किट है जो वोल्टेज को नियंत्रित करता है। एक वोल्टेज रेगुलेटर मोड्यूल को मदरबोर्ड पर स्थापित किया जाता है और सीपीयू के द्वारा आवश्यक सही वोल्टेज को नियंत्रित करता है। गौरतलब है की सीपीयू सामान्य रूप से 1.2 से 2.5 वोल्ट तक चलता है। रेगुलेटर द्वारा वोल्टेज को स्थिर रखा जाता है।

जम्पर्स

 मदरबोर्ड पर जम्पर्स छोटे पिन हैं जो आपको मदरबोर्ड सेटिंग कॉन्फिगर करने में सक्षम बनाती है। जम्पर विभिन्न कार्य करता है उदाहरण के तौर पर CMOS सेटिंग को restore करने के लिए किया जाता है।

बजर

 बजर एक स्पीकर होता है जिसकी सहायता से यदि सिस्टम में किसी प्रकार की समस्या आती है तो हमें इसके द्वारा सूचनाएं मिलती हैं।

स्टैंडबाय पॉवर एलईडी

 यह मदरबोर्ड की स्टैंडबाई पॉवर को प्रदर्शित करता है। जिससे पता चलता है की सीपीयू ऑन है या नहीं।

LAN पोर्ट

 यह नेटवर्किंग (Internet) कार्यों का समर्थन करता है।

पीएस/2 पोर्ट

पीएस/2 पोर्ट माउस या कीबोर्ड को जोड़ता है। हालाँकि लैपटॉप में पीएस/2 पोर्ट का उपयोग नहीं किया जाता है, ऐसी स्थिति में usb माउस एवं कीबोर्ड का उपयोग किया जाता है जिसे usb पोर्ट से जोड़ा जा सकता है।

RJ-45 पोर्ट

 यह एक स्विच के माध्यम से LAN कनेक्शन को सक्षम बनाता है। आम तौर पर इस पोर्ट का उपयोग इंटरनेट कनेक्शन के लिए किया जाता है।

यूएसबी पोर्टस

 यूएसबी उपकरणों जैसे प्रिंटर, स्कैनर, पेन ड्राइव इत्यादि को जोड़ा जाता है।

विडियो पोर्ट

 VGA मॉनिटर या किसी अन्य VGA संगत डिवाइस से कनेक्ट करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

माइक्रोफोन जैक

 इसके द्वारा माइक्रोफोन को कंप्यूटर से जोड़ा जाता है।

मदरबोर्ड कितने प्रकार का होता है?

आमतौर पर मदरबोर्ड बनावट के आधार पर दो प्रकार का होता है।

पहला INTEGRATED MOTHERBOARD एवं दूसरा NON- INTEGRATED MOTHER BOARD

इंटीग्रेटेड मदरबोर्ड : वर्तमान समय में सभी प्रकार के लैपटॉप और डेस्कटॉप में इंटीग्रेटेड मदरबोर्ड का प्रयोग होने लगा है।

इंटीग्रेटेड मदरबोर्ड बहुत ही एडवांस और सुविधाजनक होता है, इनमें सभी प्रकार के उपकरणों को लगाने के लिए उपयुक्त पोर्ट्स बने होते है। किसी भी उपकरण जैसे हार्ड डिस्क, प्रोसेसर, रैम इत्यादि को आसानी से खोलकर बदला जा सकता है।

नॉन – इंटीग्रेटेड मदर बोर्ड : ऐसे मदरबोर्ड में सभी उपकरण आसानी से खोलने एवं बदलने योग्य नही होते। इन्हे सोल्डर की मदद से फिक्स कर दिया जाता है। पुराने कम्प्यूटर्स में नॉन- इंटीग्रेटेड मदरबोर्ड का प्रयोग किया जाता था। किसी भी उपकरण को बदलने की असुविधा के परिणामस्वरूप ऐसे मदरबोर्ड का उपयोग कम होने लगा।

आजकल मोबाइल एवं टेबलेट में नॉन- इंटीग्रेटेड मदरबोर्ड का प्रयोग किया जाता है ।

मदरबोर्ड बनाने वाली टॉप 10 कम्पनियाँ :

ASUS

BIOSTAR

ASROCK

EVGA CORPORATION

GIGABYTE TECHNOLOGY

MSI (Micro Star International)

intel

ACER

ACUBE SYSTEMS

ALBATRON

सारांश

मदरबोर्ड अधिकतर इलेक्ट्रॉनिक संयंत्रों जैसे लैपटॉप, कंप्यूटर आदि में लगा प्रिंटेड परिपथ बोर्ड है।

इसे सिस्टम बोर्ड भी कहते हैं।

SMPS से पूरे कंप्यूटर में जरुरत के मुताबिक पॉवर सप्लाई की जाती है।

सुपर I/O चिप एक सिंगल चिप है जो I/O (input /output) डिवाइसों को नियंत्रित करता है।

प्रत्येक कंप्यूटर में प्रोसेसर को कंप्यूटर की क्षमता के अनुसार लगाया जाता है।

RAM कंप्यूटर का एक छोटा-सा हिस्सा है लेकिन बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा होता है।

जितना ज्यादा रैम वाला कंप्यूटर होगा वह उतना ही स्मूथ और बिना हैंग हुए चलेगा।

मदरबोर्ड को दो हिस्सों में बांटा गया है नोर्थब्रिज और साउथब्रिज।

वीडियो कार्ड स्लॉट हमारे कंप्यूटर में वीडियो को चलाने में सहायता करता है।

एक्सपेंशन स्लॉट से कोई भी सॉफ्टवेयर इनस्टॉल कर सकते हैं।

SATA पोर्ट IDE पोर्ट से छोटा और उससे काफी तेज गति से काम करता है।

वर्तमान में IDE पोर्ट की जगह SATA का प्रयोग होने लगा है।

पीसीआई कार्ड में LAN कार्ड, ग्राफिक कार्ड, SCSI कार्ड शामिल हैं।

मदरबोर्ड पर जम्पर्स छोटे पिन हैं जो आपको मदरबोर्ड सेटिंग कॉन्फिगर करने में सक्षम बनाती है।

विडियो पोर्ट VGA मॉनिटर या किसी अन्य VGA संगत डिवाइस से कनेक्ट करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

आमतौर पर मदरबोर्ड बनावट के आधार पर दो प्रकार का होता है।

पहला INTEGRATED MOTHERBOARD एवं दूसरा NON- INTEGRATED MOTHER BOARD

धन्यवाद!

आशा करता हूँ आपको हमारा पोस्ट What is Motherboard in hindi? मदरबोर्ड क्या है? निश्चित रूप से पसंद आया होगा ।

What is Motherboard in hindi? मदरबोर्ड क्या है? पोस्ट के जरिये मैंने मदरबोर्ड के बारे में विस्तृत जानकारी देने की कोशिश की है।

आपको मदरबोर्ड के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हुई होगी। मदरबोर्ड क्या है? मदरबोर्ड का उपयोग कैसे किया जाता है? तथा मदरबोर्ड के विभिन्न पार्ट्स क्या-क्या है?

एवं मदरबोर्ड कितने प्रकार के होते है? कुल मिलाकर इन सभी सवालों के जवाब मिल चुके होंगे।

इस रोचक एवं ज्ञानवर्धक पोस्ट को अपने प्रियजनों तक पहुंचाकर उन्हें भी लाभान्वित करें।

“वन्दे मातरम”

One thought on “What is Motherboard in hindi? मदरबोर्ड क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: