IMPS क्या है? IMPS kya hai in hindi

IMPS क्या है? IMPS kya hai in hindi । इस पोस्ट से हम IMPS के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे। NEFT ( NEFT FULL FORM national electronic funds transfer ) और RTGS ( RTGS FULL FORM real time gross settlement ) में कुछ कमियाँ थी। जैसे कि NEFT के माध्यम से राशि रियल टाइम में ट्रान्सफर नहीं होते वहीं RTGS 24*7 काम नहीं करता है। इन्ही कमियों को दूर करने के लिए IMPS (Immediate Payment Service) को 22 नवम्बर 2010 को लांच किया गया था। आज लगभग सभी बैंक IMPS की सुविधा प्रदान करते हैं। IMPS पैसे भेजने का सुगम तथा सरल तरीका होने के कारण काफी लोकप्रिय है।IMPS क्या है? IMPS kya hai in hindi के बारे में विस्तार से जानते हैं।

Immediate Payment Service से पैसे रियल टाइम तथा 24*7 ट्रान्सफर किया जा सकता है। IMPS (IMPS FULL FORM Immediate Payment Service ) को विभिन्न प्लेटफार्म जैसे मोबाइल, कंप्यूटर, एटीएम, SMS, बैंक ब्रांच तथा USSD (*99#) से इस्तेमाल किया जा सकता है। अब लोगों को पैसे भेजने के लिए बैंकों में लम्बी कतार लगने की जरूरत नहीं है, ना ही फॉर्म भरने की जरूरत है। IMPS के आ जाने से बैंक ड्राफ्ट तथा चेक से निकासी या ट्रान्सफर की जरूरत नहीं पड़ती है।

इन्हें भी पढ़ें :-

IMPS कैसे करते हैं?

MMID के माध्यम से IMPS

IMPS का संचालन NPCI (National Payments Corporation of India) करता है। MMID FULL FORM Mobile Money Identifier है। MMID के माध्यम से IMPS कैसे करते हैंIMPS करने के लिए निम्नलिखित चरण से गुजरना होता है :-

  • अपने मोबाइल बैंकिंग एप्लीकेशन में लॉग इन करें।
  • IMPS के ऑप्शन को चुनें। (SMS के माध्यम से भी MMID का इस्तेमाल करके पैसे भेजे जा सकते हैं।)
  • BENEFICIARY का मोबाइल नंबर और MMID प्राप्त करें।
  • पैसे भेजने के लिए BENEFICIARY का मोबाइल नंबर, MMID, अमाउंट और अपना पिन दर्ज करें।
  • कन्फर्मेशन मेसेज का इन्तजार करें।
  • TRANSACTION ID को भविष्य के लिए सुरक्षित रख लें।

इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से IMPS

  • इंटरनेट बैंकिंग प्लेटफार्म में लॉग इन करें।
  • अकाउंट नंबर, अकाउंट टाइप, IFSC, नाम और कांटेक्ट डिटेल डालकर IMPS BENEFICIARY को जोडें।
  • BENEFICIARY जुड़ने का इन्तजार करें।
  • BENEFICIARY जुड़ जाने पर फण्ड ट्रान्सफर में जायें।
  • उस BENEFICIARY को चुनें जिसे पैसे भेजने हैं।
  • अमाउंट और रिमार्क डालें
  • वेरीफाई करें और सेंड कर दें।
  • कन्फर्मेशन मेसेज का इन्तजार करें।
  • TRANSACTION ID को भविष्य के लिए सुरक्षित रख लें।

IMPS क्या है? IMPS kya hai in hindi के कुछ और तरीकों को आगे देखेंगे, उससे पहले हम यह जान लें कि हाल में ही हुए एक सर्वे के अनुसार IMPS की लोकप्रियता NEFT और RTGS से ज्यादा है। गौरतलब है कि NEFT और RTGS, IMPS के पहले से मौजूद हैं इसके बावजूद IMPS TRANSACTIONS ज्यादा होते हैं। इसके कई कारण है पर सबसे बड़ा कारण इसका सरल तथा सुविधाजनक होना है।

मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से IMPS

  • मोबाइल बैंकिंग प्लेटफार्म में लॉग इन करें।
  • अकाउंट नंबर, अकाउंट टाइप, IFSC, नाम और कांटेक्ट डिटेल डालकर IMPS BENEFICIARY को जोडें।
  • BENEFICIARY जुड़ने का इन्तजार करें।
  • BENEFICIARY जुड़ जाने पर फण्ड ट्रान्सफर में जायें।
  • उस BENEFICIARY को चुनें जिसे पैसे भेजने हैं।
  • अमाउंट और रिमार्क डालें
  • वेरीफाई करें और सेंड कर दें।
  • कन्फर्मेशन मेसेज का इन्तजार करें।
  • TRANSACTION ID को भविष्य के लिए सुरक्षित रख लें।

उपर्युक्त तरीकों के अलावे भी IMPS करने के कई तरीके हैं। उदाहारण के तौर पर ATM से, बैंक के ब्रांच जाकर, SMS द्वारा, USSD द्वारा इसके अलावे कुछ बैंक जैसे की इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक IMPS की डोर स्टेप सेवा भी देते हैं। इन्ही सब विषयों के बारे में हम IMPS क्या है? IMPS kya hai in hindi में और विस्तार से पढेंगे।

SMS द्वारा IMPS

SMS द्वारा सर्वप्रथम MMID उत्पन्न किया जाता है। अलग-अलग बैंकों का SMS फॉर्मेट अलग होता है। उदाहरण के तौर पर ICICI बैंक में MMID जेनेरेट करने के लिए SMS फोर्मेट है :-

MMID [space] last 4 digits of your account number to 9222208888

फिर MMID का उपयोग करके पैसे भेजे या मंगाए जा सकते। MMID द्वारा IMPS करने की विधि को ऊपर बताया गया है।

बैंक ATM से IMPS

बैंक के एटीएम में जाकर IMPS किया जा सकता है। इस विधि में BENEFICIARY का नाम, अकाउंट नंबर, IFSC, अमाउंट आदि डालकर IMPS किया जा सकता है।

USSD द्वारा IMPS

USSD द्वारा IMPS करने के लिए निम्नलिखित चरण को अपनायें :-

  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से USSD कोड *99 # डायल करें।
  • बैंक डिटेल डालें।
  • अमाउंट डालें ।
  • सेंड आप्शन से पैसे भेज दें।

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक द्वारा डोर स्टेप IMPS

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक अपने ग्राहकों को यह सुविधा प्रदान करता है कि विभिन्न बैंकिंग सुविधाएं घर पर ही प्राप्त कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर पैसे जमा करना, पैसे निकालना, पैसे ट्रान्सफर करना, AePS के माध्यम से दूसरे बैंकों के पैसे निकालना,विभिन्न बिलों का भुगतान इत्यादि। इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक को 1 सितम्बर 2018 को लाया गया था। इस बैंक के माध्यम से IMPS करने के लिए आपको 155299 डायल करना होगा जो कि इस बैंक का कस्टमर केयर नंबर है। कस्टमर केयर प्रतिनिधि आपसे दिन और समय पूछते हैं जिस दिन और समय आपको IMPS करना है। आपके द्वारा निर्धारित दिन और समय को डाकिया आपके घर पहुँच कर IMPS कर देता है।

देश के सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग सुविधा को पहुँचाने में इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक एक वरदान साबित हुआ है। हाल ही में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार यह बैंक तेजी से उभरता हुआ बैंक है। बहुत ही कम समय में इस बैंक ने 3 करोड़ से अधिक खाता खोल लिया है।

बताते चलें कि भारत सरकार या राज्य सरकार की कोई भी DBT इस बैंक के खाते में आसानी से आ जाते है। इसी कारण से मनरेगा, वृद्धा पेंशन, छात्रवृति इत्यादि की खाते इस बैंक में खुल रहे हैं।

IMPS CHARGES

IMPS CHARGES बैंक तथा अमाउंट के आधार पर अलग अलग हो सकते हैं। अधिकतर बैंकों में लगने वाले IMPS CHARGES को नीचे टेबल में दर्शाया गया है।

अमाउंटचार्जेज
10000 तकRs. 2.50 + Applicable GST
10000 से 1 लाख तकRs. 5 + Applicable GST
1 लाख से 2 लाख तकRs. 15 + Applicable GST
2 लाख से अधिकRs. 25 + Applicable GST
IMPS CHARGES

IMPS की विशेषताएं

2010 में IMPS आने के बाद बैंकिंग के क्षेत्र में क्रांतिकारी आये। इसके बाद पैसे भेजना तथा पाना बहुत ही आसन हो गया। नीचे IMPS की विशेषताएं बताई गयी है।

  • यह पैसे भेजने का तीव्र तथा विश्वसनीय तरीका है।
  • IMPS को 24*7*365 इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • इसे मोबाइल, कंप्यूटर , एटीएम आदि कई प्लेटफार्म से इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • सिर्फ MMID तथा मोबाइल नंबर के माध्यम से भी पैसे भेजे जा सकते हैं।
  • 1 रुपये से लेकर 200000 रुपये तक की राशि को imps के माध्यम से भेजा जा सकता है।
  • UPI (UNIFIED PAYMENT INTERFACE ) को भी इसी प्लेटफार्म पर बनाया गया है।

NEFT VS RTGS VS IMPS

NEFT, RTGS और IMPS को खाताधारकों की सहूलियत के लिए शुरू किया गया है| इसके द्वारा फण्ड ट्रान्सफर के लिए भेजने वाले के पास उसकी अकाउंट की जानकारी होनी चाहिए जिसे फण्ड ट्रान्सफर करना है| हालाँकि, इन तीनों पेमेंट सिस्टम में कुछ अंतर है जिसके बारे में नीचे बताया गया है|

तुलना NEFTRTGS IMPS
फण्ड ट्रान्सफर में लगने वाला समय 1/2 से 1 घंटातुरंततुरंत
न्यूनतम ट्रान्सफर सीमा1 रु2 लाख रु1 रु
अधिकतम ट्रान्सफर सीमाकोई सीमा नहींकोई सीमा नहीं2 लाख रु
सेवा उपलब्ध समय24*7वर्किंग डेज24*7
इनवर्ड चार्ज नहींनहींबैंक पर निर्भर
NEFT VS RTGS VS IMPS

सारांश

IMPS क्या है? IMPS kya hai in hindi पोस्ट के माध्यम से IMPS के बारे में सब कुछ बताने की कोशिश की गयी है। आशा है कि आप लोगों को पसंद आई होगी। इस पोस्ट को अपने प्रियजनों के साथ शेयर करें ताकि हमें और भी अच्छे लिखने की प्रेरणा मिल सके। आप अपने विचार कमेंट्स में लिख सकते हैं। सम्मानीय पाठकों से हम अच्छी सलाह की आशा रखते हैं ताकि हम और भी अच्छे पोस्ट लिख सकें।

2 thoughts on “IMPS क्या है? IMPS kya hai in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: